7 साल की सेवा के बाद रिटायर हुआ ‘डॉन’, कई वारदातों को सुलझाने में निभाई थी अहम भूमिका

एक नज़र इधर जरूर पढ़ें प्रमुख समाचार

Mathura News | मथुरा आरपीएफ का डॉग, डॉन 7 साल तक सेवा देने के बाद रिटायर हो गया है। ‘डॉन’ ने अपनी सेवा के दौरान डेढ़ दर्जन से ज्यादा चोरी और अन्य आपराधिक वारदातों को सुलझाने में अहम भूमिका निभाई थी। मेडिकली अनफिट होने के कारण आरपीएफ ने कागजी औपचारिकताएं पूरी करते हुए मंगलवार को रिटायरमेंट के साथ ही उसकी नीलामी कर दी। ‘डॉन’ को नीलामी के बाद अब नए मालिक को सौंपा गया है। बताया जा रहा है कि डॉन की विदाई पर सभी लोग भावुक हो गए। डॉन को गले में माला भी पहनाई गई।

मथुरा आरपीएफ (रेलवे सुरक्षा बल) का खोजी कुत्ता डॉन मेडिकली अनफिट होने के कारण वह अपनी सेवाएं देने में असमर्थ था। आरपीएफ ने कागजी औपचारिकताएं पूरी करते हुए मंगलवार को रिटायरमेंट के साथ ही उसकी नीलामी कर दी। मथुरा के एक युवक ने ‘डॉन’ को खरीदा है। वर्ष 2016 में ‘डॉन’ रेलवे सुरक्षा बल के डॉग स्क्वायड में शामिल हुआ। तमिलनाडु में 6 महीने तक डॉन को विशेष प्रशिक्षण दिलाया गया। डॉन ने आरपीएफ के कई चोरी और डकैती के मामलों को सुलझाने में मदद की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *