एक बात गोरखपुर और मुजफ्फरपुर वाले बताएं बुखार जाति के मुताबिक आ रहा है या धार्मिक रुप से..

Share It

जिस मुजफ्फरपुर में 100 से अधिक बच्चों की मौत पर आप दुखी हैं उसका दर्द गोरखपुर मंडल के लोग समझेंगे। हमने सालों से हजारों बच्चों की लाश को अपने आंचल में फफकते हुए अस्पताल से उठाए हैं। यह सिस्टम आक्सीजन की दलाली नहीं मिली तो हमारे बच्चों को मार दिया। गोरखपुर वाले भी शांति से बच्चों को दफनाते रहे। मुजफ्फरपुर वाले भी दफनाते रहेंगे। सिस्टम को पता है हमें अस्पताल, स्कूल, सुरक्षा नहीं चाहिए। हमें यादव, दलित, भूमिहार, ब्राह्मण, राजपूत चाहिए। अच्छा एक बात गोरखपुर और मुजफ्फरपुर वाले बताएं बुखार जाति के मुताबिक आ रहा है या धार्मिक रुप से। (नोट- मुझसे बकवास ना करो अपने बच्चों को कंधा देते वक्त सोचना कहीं तुम्हारे जाति धर्म के नाम पर वोट देने से बच्चा तो नहीं मरा। काश अस्पताल के नाम पर वोट दिया होता। हे सिस्टम मारो और हंसो खूब हंस। एक दिन आएगा जब हम तुम्हारे बंदूक की नली के सामने खड़े हो जाएंगे)
( प्रकाश सिंह के एफबी वॉल से. “प्रकाश सिंह ABP News में Content Editor हैं” )