आप क्या समझते हैं योगी आदित्यनाथ मुख्यमंत्री बन गए हैं तो यूपी में राम राज आ गया है..

Share It

बी.के. सिंह। 19 मार्च 2017 यानि कि करीब 11 माह पूर्व योगी आदित्यनाथ देश के सबसे बड़े सूबे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने। यूपी सीएम बनने से पहले योगी आदित्यनाथ पूर्वांचल के अति महत्वपूर्ण लोकसभा सीट गोरखपुर के सांसद थे। लेकिन पूर्वांचल और खासतौर पर गोरखपुर और इसके आस-पास के इलाकों में योगी आदित्यनाथ की पहचान एक सांसद अथवा मुख्यमंत्री से ज्यादा गोरक्षपीठ के उत्तराधिकारी महंथ योगी आदित्यनाथ के रूप में है। करीब डेढ़ दसक बाद परिवारवाद, क्षेत्रवाद, जातिवाद एवं भ्रष्टाचार के मकड़जाल में जकड़े यूपी को एक ऐसा मुख्यमंत्री मिला है जो पहले ही लोक कल्याण के लिए इन सबका परित्याग कर चुका है। वास्तव में सीएम बनने के बाद योगी आदित्यनाथ और उनकी पूरी टीम (कुछ लोगों को छोड़कर) खूब मेहनत कर रही है और उसका असर भी दिख रहा है। लेकिन वहीं दूसरी तरफ कुछ नेताओं और भ्रष्ट अफसरों को यह डर सता रहा है कि अगर ऐसे ही सब कुछ चलता रहा तो उनकी दुकान बंद होनी तय है। आपको जानकर हैरानी होगी कि इन भ्रष्ट नेताओं और अफसरों के गठजोड़ ने योगी सरकार को बर्बाद करने के लिए एक खास प्लान के तहत शुरू किया है “असहयोग आंदोलन”। दरअसल ये भ्रष्टाचारी अपने खास प्लान “असहयोग आंदोलन” के जरिए हर हाल में आम जनता तक यह संदेश पहुंचाना चाहते हैं कि पिछली सरकारों और इस सरकार में कोई अंतर नहीं है सब कुछ पहले जैसा ही चल रहा है। भ्रष्टाचार तो पहले से भी ज्यादा हो गया है।

पिछले करीब तीन महीनों से “ख़बर अब तक” की पूरी टीम इन भ्रष्टाचारियों को बेनकाब करने के लिए प्रयासरत है। हम बहुत जल्द स्टिंग ऑपरेशन पर आधारित अपने खास शो “ऑपरेशन असहयोग आंदोलन” के जरिए इस मुहिम की शुरूआत करने जा रहे हैं। संसाधनों और मैन पॉवर की भारी कमी के चलते हमें काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। हम यूपी से ताल्लूक रखने वाले लोगों से यह अपील कर रहे हैं कि आप हमारे इस मुहिम में शामिल होकर हमें संबल प्रदान करें। अब जरा आप सोचिए कि जिस पूर्वांचल में योगी आदित्यनाथ को भगवान माना जाता है अगर वहां के अफसर लोगों को यह कह कर हड़का रहे हों कि “क्या समझते हैं आप योगी आदित्यनाथ मुख्यमंत्री बन गए हैं तो यूपी में राम राज आ गया है.” यह सुन कर क्या बीतता होगा लोगों पर।

हमारे फेसबुक पेज को Like करने के लिए निचे लिंक पर क्लिक करें..
https://www.facebook.com/khabarabtaklive/

हमारे youtube चैनल को subscribe करने के लिए नीचे लिंक पर क्लिक करें..
https://www.youtube.com/c/KhabarAbTak

हमें twitter पर फालो करने के लिए नीचे लिंक पर क्लिक करें..
https://twitter.com/Khabarabtaklive