जस्टिस रंजन गोगोई बने देश के 46 वें प्रधान न्यायाधीश

Share It

नई दिल्ली। जस्टिस रंजन गोगोई देश के 46 वें प्रधान न्यायाधीश बन गए हैं। उन्होने बुधवार को सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायधीश (सीजेआई) के रूप में शपथ ली। बतौर सीजेआई जस्टिस गोगोई का कार्यकाल 13 महीनों का होगा जो कि नवंबर 2019 में समाप्त होगा। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उन्हें सीजेआई पद की शपथ दिलवाई। वह सीजेआई बनने वाले पूर्वोत्तर से पहले जज हैं। उनके पिता असम के मुख्यमंत्री भी रह चुके हैं।

जस्टिस रंजन गोगोई सुप्रीम कोर्ट के उन चार जजों में शामिल रहे हैं, जिन्‍होंने 12 जनवरी 2018 को एक अप्रत्याशित प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी। इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में सुप्रीम कोर्ट के कामकाज के तरीके और न्यायपालिका की स्वतंत्रता पर सवाल उठाए गए थे।